फैटी लिवर से 7 दिनों में ऐसे पाएं छुटकारा, अपनायें ये घरेलू नुस्खे

ग्रीन टी न केवल हेल्थ के लिहाज से फायदेमंद है बल्कि फैटी लिवर से संबंधित सभी बीमारियों को भी दूर करने में मदद करती है। इसमें कई प्रकार के ऐंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर में सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

लखनऊ: लिवर हमारे शरीर का दूसरा सबसे बड़ा और पाचन तंत्र का एक प्रमुख अंग है। हम जो कुछ भी खाते या पीते हैं, वह लिवर से होकर ही गुजरता है। हमारा लिवर शरीर से विषैले तत्व को बाहर निकालता है, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है। यही कारण है कि बिना लिवर के हम जीवित नहीं रह सकते हैं।
लिवर हमारे शरीर का एक ऐसा अंग है जिसके उचित देखभाल की जरूरत हमेशा पड़ती है। लेकिन आजकल की बदलती जीवनशैली के कारण हमारे लिवर के बीमार होने की आशंका बढ़ती जा रही है। यही कारण है कि आज लिवर से जुड़ी कई बीमारियां हमें अपने चपेट में लेने लगी हैं। आज हम आपको इस बीमारी के बारे में हर बातों को बताने जा रहे हैं।

क्या है फैटी लीवर?

हमारे लिवर में जब चर्बी जमा हो जाती यह ऐसी स्थिति फैटी लिवर कही जाती है। इसे ऐसे समझा जा सकता है। जिस तरह मोटे होने पर हमारे शरीर के बाकी हिस्सों पर चर्बी चढ़ जाती है, ठीक उसी तरह हमारे लिवर में भी चर्बी जमा होनी शरू हो जाती है। ऐसी स्थिति में लिवर में एकत्रित हुआ फैट लिवर के नॉर्मल सेल्स को खत्म करना शुरू कर देता है। नॉर्मल सेल्स के धीरे-धीरे कर खत्म होने और लीवर में फैट जमा होने के कारण लीवर बीमार हो जाता है। यह स्थिति आगे चलकर हेपेटाइटिस, सिरोसिस, फाइब्रोसिस और कैंसर में भी बदल सकती है।

लीवर में फैट होने के कारण

इस बीमारी के होने का मुख्य कारण मोटापा है। यहां मोटापा होने के कारणों को भी जानना जरूरी है, तभी इस बीमारी को कंट्रोल किया जा सकता है। बहुत ज्यादा खाना, जंक फूड ज्यादा खाना, बैलेस्ड डाइट नहीं लेना, एक्सरसाइज नहीं करना आदि कारणों से हमारे शरीर में फैट जमा होने लगता है और हम मोटे हो जाते हैं। इसके अलावा, डायबिटीज होने पर भी फैटी लीवर की समस्या हो सकती है।

लीवर में फैट जमने के लक्षण

आमतौर पर एशियाई लोगों में फैटी लीवर के शुरुआती लक्षण पता नहीं चल पाते हैं। असल में लिवर की जो सबसे बड़ी खासियत है और इसकी जो सबसे बड़ी समस्या है वह यह कि जब तक यह 80 प्रतिशत तक क्षतिग्रस्त नहीं हो जाता, तब तक इसके लक्षण दिखाई नहीं देते हैं और जब तक लक्षण दिखाई देते हैं, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है और फैटी लीवर की वजह से दूसरी गंभीर बीमारियां रोगी को हो चुकी होती हैं। वैसे पीलिया, भूख न लगना, पेट के अंदर पानी भर जाना आदि फैटी लीवर के ही लक्षण होते हैं। फैटी लीवर के एडवांस स्टेज में पहुंच जाने पर मरीज के दिमाग पर भी असर पड़ने लगता है।

फैट लीवर कम करने के 5 घरेलू नुस्खे

अखरोट में ओमेगा-3 जैसा पोषक तत्व पाया जाता है। नियमित रूप से अखरोट का सेवन आपके लिवर में आई सूजन को कम कर देता है।
जीरा हमारे लिवर में जमा गंदगी को बाहर करने में भी मदद करता है। जीरा, पाचन से लेकर फैट रिलीजिंग में भी मदद करता है। फैटी लिवर की समस्या से परेशान व्यक्ति नियमित सुबह उठकर जीरे का पानी पिएं, फायदा दिखेगा।

कॉफी में भारी मात्रा में क्लोरोजेनिक ऐसिड पाया जाता है, जो लिवर में सूजन या फिर फैटी लिवर की समस्या को दूर करता है। लेकिन बहुत ज्यादा कॉफी भी सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है, लिहाजा लिमिट में रहकर ही कॉफी पिएं।
हल्दी शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालने और हेपेटाइटिस के खतरे को भी कम करने में मदद करती है। हल्दी के ऐंटीबायॉटिक गुण हमारे लिवर को स्वस्थ रखने और सूजन को कम करने में मदद करते हैं।
ग्रीन टी न केवल हेल्थ के लिहाज से फायदेमंद है बल्कि फैटी लिवर से संबंधित सभी बीमारियों को भी दूर करने में मदद करती है। इसमें कई प्रकार के ऐंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर में सूजन को कम करने में मदद करते हैं।
फैटी लिवर से 7 दिनों में ऐसे पाएं छुटकारा, अपनायें ये घरेलू नुस्खे फैटी लिवर से 7 दिनों में ऐसे पाएं छुटकारा, अपनायें ये घरेलू नुस्खे Reviewed by Author on October 09, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.