नींबू का उपयोग करके लीवर की कमजोरी दूर करने का घरेलू उपाय.

लिवर की खराबी का अगर सही समय पर इलाज़ न हो तो आगे जाकर यह बिमारी विकराल रूप ले सकती है, यहाँ तक की जान भी जा सकती है। लीवर कमज़ोर होना या लीवर की खराबी, इस बिमारी के कई कारण हो सकते है। लीवर में दर्द होना, भूख कम लगना आदि इस बिमारी के सामान्य लक्षण है।

Third party image reference
यकृत के विकार या लिवर या जिगर की खराबी का आसान उपाय.
एक कागजी नींबू लेकर उसके दो टुकड़े कर लें। फिर बीज निकालकर आधे नीबू के बिना काटे चार भाग करें पर टुकड़े अलग-अलग न हो। उसके बाद एक भाग में काली मिर्च का चूर्ण, दूसरे में काला नमक (अथवा सैधा नमक), तीसरे में साँठ का चूर्ण और चौथे में मेिश्री का चूर्ण (या शक्कर चीनी) भर दें। रात को प्लेट में रखकर ढंक दें। प्रातः भोजन करने से एक घंटे पहले इस नींबू की फॉक (टुकड़ा) को मन्दी आंच या तवे पर गर्म करके चूस लें।
आवश्यकतानुसार 15 दिन से 21 दिन लेने से लीवर सहीं होगा। यदि परिणाम न मिले तो डॉक्टर की सलाह तुरंत ले.

Third party image reference
इससे यकृत विकार ठीक होने के साथ पेट दर्द और मुँह का जायक ठीक होगा, भूख बढ़ेगी, सिरदर्द और पुरानी से पुरानी कब्ज दूर होगी।

Third party image reference
ये यकृत के कठोर और छोटा होने के रोग में अचूक है। पुराना मलेरिया, ज्वर, कुनैन या पारा के दुव्यवहार, अधिक मद्यपान, ज्यादा मिठाई खाना, अमेधिक पेचिश के रोगाणु का यकृत में प्रवेश आदि कारणों से यकृत रोगों की उत्पति होती है।

नींबू का उपयोग करके लीवर की कमजोरी दूर करने का घरेलू उपाय. नींबू का उपयोग करके लीवर की कमजोरी दूर करने का घरेलू उपाय. Reviewed by Author on July 17, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.